Home / देखी सुनी / निगमायुक्त आखिर केसी पर मेहरबान क्यों!

निगमायुक्त आखिर केसी पर मेहरबान क्यों!

ग्वालियर नगर निगम में पैसे से कुछ भी हो सकता है लेकिन यहां शासन के नगरीय प्रशासन मंत्री जो कि निगम के ही मंत्री कहलाते है उन्हीं के आदेशों की धज्जियां उड़ाई जा रही है। कुछ माह पहले नगर निगम पीएचई विभाग में पदस्थ केसी अग्रवाल सहायक यंत्री दक्षिण विधानसभा एवं तिघरा प्लांट सहायक यंत्री का भी प्रभार दे रखा है। जबकि शासन से केसी अग्रवाल के स्थानांतरण आर्डर विगत अप्रैल 2019 को जारी हुये थे। फिर भी आजतक रिलीव नहीं किया गया। देखिये कमिश्नर की मेहरबानी जबकि प्रवीण दीक्षित का स्थानांतरण हुआ तो तुरंत रिलीव कर दिया गया था,…

Review Overview

User Rating: 4.75 ( 1 votes)

ग्वालियर नगर निगम में पैसे से कुछ भी हो सकता है लेकिन यहां शासन के नगरीय प्रशासन मंत्री जो कि निगम के ही मंत्री कहलाते है उन्हीं के आदेशों की धज्जियां उड़ाई जा रही है।
कुछ माह पहले नगर निगम पीएचई विभाग में पदस्थ केसी अग्रवाल सहायक यंत्री दक्षिण विधानसभा एवं तिघरा प्लांट सहायक यंत्री का भी प्रभार दे रखा है। जबकि शासन से केसी अग्रवाल के स्थानांतरण आर्डर विगत अप्रैल 2019 को जारी हुये थे। फिर भी आजतक रिलीव नहीं किया गया। देखिये कमिश्नर की मेहरबानी जबकि प्रवीण दीक्षित का स्थानांतरण हुआ तो तुरंत रिलीव कर दिया गया था, क्योंकि मलाईदार पद कमाई पूत की कहावत नगर निगम में चरितार्थ हो रही है। जबकि शासन के स्पष्ट आदेश होने के बाद भी इनको रिलीव नहीं किया। ऐसे ही मलाईदार पदों पर बैठे अपने अधीनस्थों को बचाने का कार्य किया जा रहा है। वाह रे कमिश्नर साहब!
खबरीलाल….

ग्वालियर नगर निगम में पैसे से कुछ भी हो सकता है लेकिन यहां शासन के नगरीय प्रशासन मंत्री जो कि निगम के ही मंत्री कहलाते है उन्हीं के आदेशों की धज्जियां उड़ाई जा रही है। कुछ माह पहले नगर निगम पीएचई विभाग में पदस्थ केसी अग्रवाल सहायक यंत्री दक्षिण विधानसभा एवं तिघरा प्लांट सहायक यंत्री का भी प्रभार दे रखा है। जबकि शासन से केसी अग्रवाल के स्थानांतरण आर्डर विगत अप्रैल 2019 को जारी हुये थे। फिर भी आजतक रिलीव नहीं किया गया। देखिये कमिश्नर की मेहरबानी जबकि प्रवीण दीक्षित का स्थानांतरण हुआ तो तुरंत रिलीव कर दिया गया था,…

Review Overview

User Rating: 4.75 ( 1 votes)

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

डा. एचपी सिंह पर राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विवि के कुलपति की मेहरबानी?

वैसे कहावत सही है अंधा बांटे रेवडी चीन-चीन को दे इसी काम ...