Home / देखी सुनी / जून के पहले सप्ताह में शिवराज मंत्रीमंडल विस्तार?

जून के पहले सप्ताह में शिवराज मंत्रीमंडल विस्तार?

अगर सबकुछ ठीकठाक रहा तो मध्यप्रदेश में जून में पहले सप्ताह की किसी भी तारीख में मंत्रीमंडल विस्तार होता हुआ आपको दिखाई देगा। इस विस्तार में 7 से 8 मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा खेमे के हो सकते है। जबकि सिंधिया से अलग भाजपा के 2 दर्जन मंत्री बनने की संभावना है। इस विस्तार में 22 से 24 मंत्री शपथ लेंगे। मध्यप्रदेश में मंत्री की कुर्सी के लिए काफी रस्साकशी चल रही है। कांग्रेस से आये ज्योतिरादित्य सिंधिया अपनी महत्वकांक्षा पर अड़े है। उनके दो मंत्री पहले ही बन चुके है। अ बवह 8 से 10 मंत्रियों की और जिद…

Review Overview

User Rating: 4.83 ( 3 votes)

अगर सबकुछ ठीकठाक रहा तो मध्यप्रदेश में जून में पहले सप्ताह की किसी भी तारीख में मंत्रीमंडल विस्तार होता हुआ आपको दिखाई देगा। इस विस्तार में 7 से 8 मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा खेमे के हो सकते है। जबकि सिंधिया से अलग भाजपा के 2 दर्जन मंत्री बनने की संभावना है। इस विस्तार में 22 से 24 मंत्री शपथ लेंगे।
मध्यप्रदेश में मंत्री की कुर्सी के लिए काफी रस्साकशी चल रही है। कांग्रेस से आये ज्योतिरादित्य सिंधिया अपनी महत्वकांक्षा पर अड़े है। उनके दो मंत्री पहले ही बन चुके है। अ बवह 8 से 10 मंत्रियों की और जिद पर अड़े है। हालांकि भाजपा संगठन लगभग 7 से 8 नामों पर सहमत है। लेकिन इसके बाद भाजपा में असंतोष पैदा हो गया है। कई पूर्व मंत्री और दिग्गज विधायक सिंधिया खेमे के लोगों के कारण अपनी कुर्सी खतरे में पड़ते देख रहे है। इससे उनमे गुस्सा और दुख दिखाई दे रहा है। जो संभावित नाम है उनमे दिग्गज नेता पूर्व गृह मंत्री भूपेन्द्र सिंह के नाम का जिक्र ही नहीं है। देखना है जून के पहले सप्ताह में अगर विस्तार होता है तो किसी लाॅटरी निकलेगी और कौन अपनी ही पार्टी को कोसता दिखेगा।

अगर सबकुछ ठीकठाक रहा तो मध्यप्रदेश में जून में पहले सप्ताह की किसी भी तारीख में मंत्रीमंडल विस्तार होता हुआ आपको दिखाई देगा। इस विस्तार में 7 से 8 मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा खेमे के हो सकते है। जबकि सिंधिया से अलग भाजपा के 2 दर्जन मंत्री बनने की संभावना है। इस विस्तार में 22 से 24 मंत्री शपथ लेंगे। मध्यप्रदेश में मंत्री की कुर्सी के लिए काफी रस्साकशी चल रही है। कांग्रेस से आये ज्योतिरादित्य सिंधिया अपनी महत्वकांक्षा पर अड़े है। उनके दो मंत्री पहले ही बन चुके है। अ बवह 8 से 10 मंत्रियों की और जिद…

Review Overview

User Rating: 4.83 ( 3 votes)

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

तोमर खेमा अलग थलग पड़ा, अब सिंधिया और उनके समर्थकों का वर्चस्व

मध्यप्रदेश और अंचल की राजनीति में जिस प्रकार से केन्द्र और सूबे ...