Home / प्रदेश / मप्र छत्तीसगढ़ / मतदान प्रतिशत ने तोड़ा पिछला रिकॉर्ड, 74.61 फीसदी हुआ मतदान

मतदान प्रतिशत ने तोड़ा पिछला रिकॉर्ड, 74.61 फीसदी हुआ मतदान

भोपाल। मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव 2018 के उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में कैद हो चुकी है. मध्यप्रदेश में इस बार मतदान का आंकड़ा पिछले विधानसभा चुनाव का रिकॉर्ड टूट गया है. मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने राजधानी में आयोजित पत्रकार वार्ता में मतदान के आंकड़ों को बताया है. मध्य्प्रदेश में पिछले चुनावों का रिकॉर्ड टूट चुका है. 2013 में 72.13 फीसदी मतदान हुआ था जो इस बार बढ़कर 74.61 फीसदी पहुंच गया है. प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों पर इस बार 2 हजार 899 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे, जिनकी किस्मत का फैसला ईवीएम में कैद हो चुका है.…

Review Overview

User Rating: 4.8 ( 2 votes)

भोपाल। मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव 2018 के उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में कैद हो चुकी है. मध्यप्रदेश में इस बार मतदान का आंकड़ा पिछले विधानसभा चुनाव का रिकॉर्ड टूट गया है. मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने राजधानी में आयोजित पत्रकार वार्ता में मतदान के आंकड़ों को बताया है.
मध्य्प्रदेश में पिछले चुनावों का रिकॉर्ड टूट चुका है. 2013 में 72.13 फीसदी मतदान हुआ था जो इस बार बढ़कर 74.61 फीसदी पहुंच गया है. प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों पर इस बार 2 हजार 899 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे, जिनकी किस्मत का फैसला ईवीएम में कैद हो चुका है. बालाघाट की तीन सीटों पर सुबह 7 से लेकर 3 बजे तक मतदान किया गया जिसमें लांझी विधानसभा में 79 फिसदी, बैहर में 78.05 फिसदी वोटिंग, परसवाड़ा में 80.05 फीसदी मतदान हुआ.
पत्रकार वार्ता के दौरान वीएल कांताराव ने बताया कि 6 बजे तक 74.61 फीसदी मतदान हो चुका है यह और भी बढ़ सकता है. उन्होंने कहा कि कहीं भी बूथ कैप्चरिंग नहीं हुई है, मतदान के दौरान कुछ जगहों पर छुटपुट हिंसा हुई है. वहीं इंदौर, धार, गुना में मतदान कर्मियों की मौत की जानकारी इस दौरान दी गई है. कांताराव ने कहा है कि कहीं भी मतदान का बहिष्कार नहीं हुआ है. शाजापुर जिले के शुजालपुर में एक सेंटर अॉफिसर को ससपेंड किया है. वीएल कांताराव ने बताया कि मतदान के दौरान कुल 386 शिकायतें प्राप्त हुईं जिनका निराकरण किया गया. वहीं मॉक पोल के दौरान 2 फीसदी मशीनों को बदला गया.

भोपाल। मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव 2018 के उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में कैद हो चुकी है. मध्यप्रदेश में इस बार मतदान का आंकड़ा पिछले विधानसभा चुनाव का रिकॉर्ड टूट गया है. मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव ने राजधानी में आयोजित पत्रकार वार्ता में मतदान के आंकड़ों को बताया है. मध्य्प्रदेश में पिछले चुनावों का रिकॉर्ड टूट चुका है. 2013 में 72.13 फीसदी मतदान हुआ था जो इस बार बढ़कर 74.61 फीसदी पहुंच गया है. प्रदेश की 230 विधानसभा सीटों पर इस बार 2 हजार 899 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे, जिनकी किस्मत का फैसला ईवीएम में कैद हो चुका है.…

Review Overview

User Rating: 4.8 ( 2 votes)

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

इंदौर में बेरोजगार महापंचायत में शामिल होंगे राहुल गांधी

NEYU (नेशनल एजुकेटेड यूथ यूनियन) की बेरोजगार महापंचायत में राहुल गांधी के ...