Home / ग्वालियर / कमल किशोर के हुनर को लगे पंख, तो छूने लगे आसमान 

कमल किशोर के हुनर को लगे पंख, तो छूने लगे आसमान 

लाला का बाजार ग्वालियर निवासी कमल किशोर भटनागर जब भी अपने दोस्तों एवं साथियों को मंहगे कपडे एवं गाडियां चलाते देखते तो उन्हें लगता था कि पता नहीं वह भी कभी ऐसे शौक पूरे कर पाएंगे कि नहीं, क्योंकि एक ओर तो उनका काम अच्छा नहीं चल रहा था, दूसरी ओर उनकी मां व भाई की जिम्मेदारी भी उनके ऊपर थी। कमल किशोर भटनागर ने बताया कि उन्होंने सुनहरे भविष्य की कल्पना के साथ  इलेक्ट्रीशियन का काम सीखा था कि अच्छी आमदनी होगी तो माँ और भाई की देखभाल अच्छे से करेंगे तथा अपने भी शौक पूरे कर पाएंगे लेकिन…

Review Overview

User Rating: 4.9 ( 1 votes)

लाला का बाजार ग्वालियर निवासी कमल किशोर भटनागर जब भी अपने दोस्तों एवं साथियों को मंहगे कपडे एवं गाडियां चलाते देखते तो उन्हें लगता था कि पता नहीं वह भी कभी ऐसे शौक पूरे कर पाएंगे कि नहीं, क्योंकि एक ओर तो उनका काम अच्छा नहीं चल रहा था, दूसरी ओर उनकी मां व भाई की जिम्मेदारी भी उनके ऊपर थी।
कमल किशोर भटनागर ने बताया कि उन्होंने सुनहरे भविष्य की कल्पना के साथ  इलेक्ट्रीशियन का काम सीखा था कि अच्छी आमदनी होगी तो माँ और भाई की देखभाल अच्छे से करेंगे तथा अपने भी शौक पूरे कर पाएंगे लेकिन अब पता चला कि बिना अच्छी दुकान डाले कोई ज्यादा काम नहीं मिलता तथा दूसरों के यहां कार्य करने से केवल कुछ पैसे ही मिलते थे। कमल किशोर के पास हुनर तो था किन्तु आमदनी बहुत कम होती थी। खुद का व्यापार करने के लिए इतना पैसा नहीं था और जो व्यापार करना था उसका सामान भी काफी मंहगा था। जब कमल किशोर को सरकार की योजनाओं की जानकारी मिली तो वह काफी खुश हुए। कमल किशोर को शिविर के माध्यम से ज्ञात हुआ कि शहरी क्षेत्र में निवासरत गरीब परिवारों को सरकार राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के स्वरोजगार घटक मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण एवं स्वरोजगार योजना के तहत स्वयं के व्यवसाय हेतु ऋण उपलब्ध करा रही है। श्री कमल किशोर ने राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत रेफ्रिजरेशन रिपेरिंग की दुकान खोलने हेतु आवेदन दिया।
कमल किशोर के हुनर और लगन को देखते हुए एनयूएलएम टास्क फोर्स समिति द्वारा उनके आवेदन पर विचार कर दो लाख के ऋण की अनुशंसा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत की गई। रिपेरिंग का काम करने से आमंदनी बढने से आर्थिक स्थिति भी मजबूत हुई। श्री कमल किशोर की आजीविका का साधन हो जाने से ऋण राशि की मासिक किश्तें समय से जमा कर रहे हैं। कमल किशोर द्वारा पूरे परिवार सहित सरकार का आभार व्यक्त किया गया है। जिनके सहयोग से हम लोगों की आर्थिक एवं सामाजिक स्थिति में सुधार एवं चेहरे पर मुस्कान आई है।
लाला का बाजार ग्वालियर निवासी कमल किशोर भटनागर जब भी अपने दोस्तों एवं साथियों को मंहगे कपडे एवं गाडियां चलाते देखते तो उन्हें लगता था कि पता नहीं वह भी कभी ऐसे शौक पूरे कर पाएंगे कि नहीं, क्योंकि एक ओर तो उनका काम अच्छा नहीं चल रहा था, दूसरी ओर उनकी मां व भाई की जिम्मेदारी भी उनके ऊपर थी। कमल किशोर भटनागर ने बताया कि उन्होंने सुनहरे भविष्य की कल्पना के साथ  इलेक्ट्रीशियन का काम सीखा था कि अच्छी आमदनी होगी तो माँ और भाई की देखभाल अच्छे से करेंगे तथा अपने भी शौक पूरे कर पाएंगे लेकिन…

Review Overview

User Rating: 4.9 ( 1 votes)

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

ग्वालियर में ग्राम पंचायत का मतदान शुरू, पोलिंग बूथों पर लगी लंबी लाइन

ग्वालियर। मध्यप्रदेश में ग्राम पंचायत के पहले चरण का मतदान आज यानी ...