Home / ग्वालियर / सदगी से मनी रामनवमी, घर-घर जले दीपक

सदगी से मनी रामनवमी, घर-घर जले दीपक

ग्वालियर। देश भर में फैले कोरोना संकट के कारण इस बार रामनवमी के मौके पर ग्वालियर के प्राचीन राम मंदिर में सादगी से भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव मनाया गया. आम दर्शनार्थियों के लिए मंदिर बंद था हालांकि लोग भी भीड़ न जमें, इसलिए मंदिर के बाहर से ही प्रभू श्री राम के दर्शन कर के जाते रहे। जन्मोत्सव में केवल मंदिर के पुजारी मौजूद रहे। इस दौरान श्रीराम की महाआरती के साथ अभिषेक कर उनकी पूजा-अर्चना की गई। वहीं सायं को पूरा शहर दीपकों से पट गया। लोगों ने सायं को 9 दीपक जलाकर अपनी छतों व बालकनियों में लगाये।…

Review Overview

User Rating: 4.77 ( 3 votes)

ग्वालियर। देश भर में फैले कोरोना संकट के कारण इस बार रामनवमी के मौके पर ग्वालियर के प्राचीन राम मंदिर में सादगी से भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव मनाया गया. आम दर्शनार्थियों के लिए मंदिर बंद था हालांकि लोग भी भीड़ न जमें, इसलिए मंदिर के बाहर से ही प्रभू श्री राम के दर्शन कर के जाते रहे। जन्मोत्सव में केवल मंदिर के पुजारी मौजूद रहे। इस दौरान श्रीराम की महाआरती के साथ अभिषेक कर उनकी पूजा-अर्चना की गई। वहीं सायं को पूरा शहर दीपकों से पट गया। लोगों ने सायं को 9 दीपक जलाकर अपनी छतों व बालकनियों में लगाये। घर-घर सायं को दीपकों जलता देख यह नजारा बड़ा ही मनोरम व अदभुत लगा। लोगों ने घरों में भी रहकर भगवार राम के जन्मदिन बड़े ही श्रद्धाभाव के साथ मनाया। वहीं इस खुशी में सायं को 9 दीपक जलाकर भगवान के जन्म की खुशी का इजहार किया।

बता दें कि इस मंदिर में हमेशा राम का जन्म बड़े ही धूम-धाम से होता है, लेकिन इस बार कोरोना के मद्देनज यहां बड़ी सादगी रहे और दोपहर ठीक 12 बजे भगवान श्री राम की आरती के साथ उनके पट खोले गए. जिसके बाद संपूर्ण विधि-विधान से भगवान का पूजन किया गया और जन्मोत्सव मनाया गया। भास्कर प्लस न्यूज पोर्टल के संपादक धीरज बंसल, पंकज कुमार व समाजसेवी राजकुमार बंसल ने रामनवमी के पावन पर्व की सभी का शुभकामनायें देकर विश्व पर छाये कोविड-19 के संकट से उबारने की ईश्वर से प्रार्थना की है।

ग्वालियर। देश भर में फैले कोरोना संकट के कारण इस बार रामनवमी के मौके पर ग्वालियर के प्राचीन राम मंदिर में सादगी से भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव मनाया गया. आम दर्शनार्थियों के लिए मंदिर बंद था हालांकि लोग भी भीड़ न जमें, इसलिए मंदिर के बाहर से ही प्रभू श्री राम के दर्शन कर के जाते रहे। जन्मोत्सव में केवल मंदिर के पुजारी मौजूद रहे। इस दौरान श्रीराम की महाआरती के साथ अभिषेक कर उनकी पूजा-अर्चना की गई। वहीं सायं को पूरा शहर दीपकों से पट गया। लोगों ने सायं को 9 दीपक जलाकर अपनी छतों व बालकनियों में लगाये।…

Review Overview

User Rating: 4.77 ( 3 votes)

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

भाजपा नेता धीरज राजकुमार बंसल ने दी राजमाता को श्रद्धांजलि

ग्वालियर। वरिष्ठ भाजपा नेता धीरज राजकुमार बंसल ने आज राजमाता विजयाराजे सिंधिया ...