Home / देखी सुनी / दिल्ली में दादा का डेरा

दिल्ली में दादा का डेरा

दिल्ली विधानसभा चुनाव की जिम्मेदारी एक बार फिर दादा जयभान सिंह पवैया के कंधों पर है। लोकसभा के बाद विधानसभा चुनावों में भी प्रभारी के रूप में दादा दिल्ली में डटे है और विधानसभावार जीत की रणनीति बना रहे है। दादा जल्द ही डोर टू डोर कैंपेन और रैलियों भी करेंगे। इसी सिलसिले में गत रोज नई दिल्ली में मध्यप्रदेश के प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुहास भगत, पूर्व सांसद दादा जयभान सिंह पवैया तथा ग्वालियर-भोपाल संभाग के संगठन मंत्री आशुतोष तिवारी ने चुनावी रणनीति पर गहन विचार मन्थन किया।

Review Overview

User Rating: Be the first one !


दिल्ली विधानसभा चुनाव की जिम्मेदारी एक बार फिर दादा जयभान सिंह पवैया के कंधों पर है। लोकसभा के बाद विधानसभा चुनावों में भी प्रभारी के रूप में दादा दिल्ली में डटे है और विधानसभावार जीत की रणनीति बना रहे है। दादा जल्द ही डोर टू डोर कैंपेन और रैलियों भी करेंगे।
इसी सिलसिले में गत रोज नई दिल्ली में मध्यप्रदेश के प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुहास भगत, पूर्व सांसद दादा जयभान सिंह पवैया तथा ग्वालियर-भोपाल संभाग के संगठन मंत्री आशुतोष तिवारी ने चुनावी रणनीति पर गहन विचार मन्थन किया।

दिल्ली विधानसभा चुनाव की जिम्मेदारी एक बार फिर दादा जयभान सिंह पवैया के कंधों पर है। लोकसभा के बाद विधानसभा चुनावों में भी प्रभारी के रूप में दादा दिल्ली में डटे है और विधानसभावार जीत की रणनीति बना रहे है। दादा जल्द ही डोर टू डोर कैंपेन और रैलियों भी करेंगे। इसी सिलसिले में गत रोज नई दिल्ली में मध्यप्रदेश के प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुहास भगत, पूर्व सांसद दादा जयभान सिंह पवैया तथा ग्वालियर-भोपाल संभाग के संगठन मंत्री आशुतोष तिवारी ने चुनावी रणनीति पर गहन विचार मन्थन किया।

Review Overview

User Rating: Be the first one !

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

डा. एचपी सिंह पर राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विवि के कुलपति की मेहरबानी?

वैसे कहावत सही है अंधा बांटे रेवडी चीन-चीन को दे इसी काम ...