Home / प्रदेश / मप्र छत्तीसगढ़ / वनमंत्री उमंग सिंघार ने कहा- गुजरात नर्मदा का पानी ले रहा है तो शेर देने में ऐतराज कैसा

वनमंत्री उमंग सिंघार ने कहा- गुजरात नर्मदा का पानी ले रहा है तो शेर देने में ऐतराज कैसा

भोपाल. प्रदेश के वन मंत्री उमंग सिंघार ने कहा कि वनों को अतिक्रमण से मुक्त कराना और गुजरात से शेरों को कूनो राष्ट्रीय उद्यान लाकर बसाना उनकी प्राथमिकता होगी। जब हम गुजरात नर्मदा का पानी देते हैं तो उन्हें शेर देने में ऐतराज नहीं होना चाहिए। बुधवार को वनमंत्री उमंग सिंघार ने कार्यभार ग्रहण करने के बाद मीडिया से चर्चा में ये बात कही। बुधवार को वनमंत्री सिंघार ने अधिकारियों से कहा कि देश में सर्वाधिक वनक्षेत्र मध्यप्रदेश में है, इसलिये युवा वर्ग को कौशल उन्नयन से जोड़ते हुए वनों के माध्यम से बेहतर रोजगार दिलाने के प्रयास करें। अपर मुख्य…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

भोपाल. प्रदेश के वन मंत्री उमंग सिंघार ने कहा कि वनों को अतिक्रमण से मुक्त कराना और गुजरात से शेरों को कूनो राष्ट्रीय उद्यान लाकर बसाना उनकी प्राथमिकता होगी। जब हम गुजरात नर्मदा का पानी देते हैं तो उन्हें शेर देने में ऐतराज नहीं होना चाहिए। बुधवार को वनमंत्री उमंग सिंघार ने कार्यभार ग्रहण करने के बाद मीडिया से चर्चा में ये बात कही।

बुधवार को वनमंत्री सिंघार ने अधिकारियों से कहा कि देश में सर्वाधिक वनक्षेत्र मध्यप्रदेश में है, इसलिये युवा वर्ग को कौशल उन्नयन से जोड़ते हुए वनों के माध्यम से बेहतर रोजगार दिलाने के प्रयास करें। अपर मुख्य सचिव वन केके सिंह ने इस अवसर पर वन मंत्री को महत्वपूर्ण विभागीय गतिविधियों से अवगत कराया। अपर मुख्य सचिव कि शेरों के आगमन के लिए कूनो राष्ट्रीय उद्यान पूरी तरह तैयार है। यहां से 24 गांवों का विस्थापन किया जा चुका है। तेंदुपत्ता संग्रहण का काम भी अच्छी स्थिति में है। इस अवसर पर विभाग के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

2013 में सुप्रीम कोर्ट ने दी थी मंजूरी 
सुप्रीम कोर्ट ने 2013 में एशियाई शेरों को कुनो अभयारण्य भेजने की योजना को मंजूरी दे दी थी। विशेषज्ञ समिति ने 2014 में अपनी रिपोर्ट में कहा था कि कुनो अभयारण्य गिर शेरों को लेने के लिए तैयार है। इसके अलावा समिति ने पांच से लेकर 10 के समूह में शेरों को लाने का सुझाव दिया था। हालांकि, गुजरात सरकार ने इस सुझाव को नहीं माना था और विशेषज्ञ समिति की आगामी सभी बैठकों में इसका विरोध किया था।

भोपाल. प्रदेश के वन मंत्री उमंग सिंघार ने कहा कि वनों को अतिक्रमण से मुक्त कराना और गुजरात से शेरों को कूनो राष्ट्रीय उद्यान लाकर बसाना उनकी प्राथमिकता होगी। जब हम गुजरात नर्मदा का पानी देते हैं तो उन्हें शेर देने में ऐतराज नहीं होना चाहिए। बुधवार को वनमंत्री उमंग सिंघार ने कार्यभार ग्रहण करने के बाद मीडिया से चर्चा में ये बात कही। बुधवार को वनमंत्री सिंघार ने अधिकारियों से कहा कि देश में सर्वाधिक वनक्षेत्र मध्यप्रदेश में है, इसलिये युवा वर्ग को कौशल उन्नयन से जोड़ते हुए वनों के माध्यम से बेहतर रोजगार दिलाने के प्रयास करें। अपर मुख्य…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

ग्वालियर और जयपुर राजघराने में गूंजेगी शहनाई, महाआर्यमान सिंधिया और गौरवी का रिश्ता तय!

सिंधिया राजघराने के राजकुमार महाआर्यमान और जयपुर की राजकुमारी गौरवी अब जल्द ...