Home / प्रदेश / मप्र छत्तीसगढ़ / लकड़ी काटने जंगल में गए पति-पत्नी बाढ़ के पानी में डूबे, पति का देर रात और पत्नी का सुबह शव मिला

लकड़ी काटने जंगल में गए पति-पत्नी बाढ़ के पानी में डूबे, पति का देर रात और पत्नी का सुबह शव मिला

श्योपुर में बाढ़ में बह जाने से एक दंपती की मौत हो गई। दोनों पास ही जंगल में लकड़ी काटने गए थे, तभी बाढ़ के पानी में फंस गए। पति का शव रात में ही मिल गया था, जबकि पत्नी की लाश सुबह बरामद हुई है। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है। बता दें कि श्योपुर में बारिश का कहर जारी है। तीन दिनों से लगातार पानी गिर रहा है। नदी-नाले उफान पर हैं। पुलिस के मुताबिक 45 वर्षीय रामस्वरूप आदिवासी रविवार दोपहर करीब 11.30 बजे 40 वर्षीय पत्नी साबी बाई निवासी कैरका के साथ जंगल…

Review Overview

User Rating: 5.59 ( 6 votes)

श्योपुर में बाढ़ में बह जाने से एक दंपती की मौत हो गई। दोनों पास ही जंगल में लकड़ी काटने गए थे, तभी बाढ़ के पानी में फंस गए। पति का शव रात में ही मिल गया था, जबकि पत्नी की लाश सुबह बरामद हुई है। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।
बता दें कि श्योपुर में बारिश का कहर जारी है। तीन दिनों से लगातार पानी गिर रहा है। नदी-नाले उफान पर हैं। पुलिस के मुताबिक 45 वर्षीय रामस्वरूप आदिवासी रविवार दोपहर करीब 11.30 बजे 40 वर्षीय पत्नी साबी बाई निवासी कैरका के साथ जंगल में लकड़ी काटने के लिए गए थे। बताया जाता है, कि लकड़ी काटकर जब दंपति सिर पर गठ्ठर रखकर लौट रहे थे, तभी आवदा डैम में आ रहे पानी के बहाव की चपेट में आ गए। शाम तक दोनों के घर नहीं पहुंचने पर परिजनों ने पहले तो इन्हें आसपास तलाशा, आखिर में पुलिस को सूचना दी। पुलिस की तलाश में डैम से करीब 1 किमी दूर ढाबा गांव के पास रामस्वरूप आदिवासी का शव मिल गया। रातभर पत्नी की तलाश की गई, लेकिन कुछ नहीं मिला। पुलिस ने सोमवार सुबह फिर से सर्चिंग अभियान चलाया। करीब 7.30 बजे आवदा डैम खदान के पास साबी बाई का भी शव मिल गया। पुलिस ने शव को पीएम के लिए बड़ौदा अस्पताल भिजवाया।
आवदा थाना के एएसआई सुखवीरसिंह राजावत ने बताया कि रविवार को कैरका गांव से दंपति जंगल में लकड़ी काटने के लिए गया था। वापस आते समय पानी के तेज बहाव की चपेट में आ गए। श्योपुर में तेज बारिश के कारण सीप, कदवाल और भादड़ी नदी उफान पर आ गई हैं। तेज बारिश के कारण पुल पर पानी आ गया। इससे श्योपुर-ग्वालियर हाईवे पर जाम लग गया था। राजगढ़ में बिजली गिरने से चार साल के बच्चे की मौत हो गई। वहीं, दो लोग घायल हो गए। खरगोन जिले के मेनगांव थाना क्षेत्र के ग्राम रामपुरा में रविवार शाम बिजली गिरने से अधेड़ की मौत हो गई और एक बालक घायल हो गया।

श्योपुर में बाढ़ में बह जाने से एक दंपती की मौत हो गई। दोनों पास ही जंगल में लकड़ी काटने गए थे, तभी बाढ़ के पानी में फंस गए। पति का शव रात में ही मिल गया था, जबकि पत्नी की लाश सुबह बरामद हुई है। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है। बता दें कि श्योपुर में बारिश का कहर जारी है। तीन दिनों से लगातार पानी गिर रहा है। नदी-नाले उफान पर हैं। पुलिस के मुताबिक 45 वर्षीय रामस्वरूप आदिवासी रविवार दोपहर करीब 11.30 बजे 40 वर्षीय पत्नी साबी बाई निवासी कैरका के साथ जंगल…

Review Overview

User Rating: 5.59 ( 6 votes)

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

मध्यप्रदेश में बारिश का कहर: बांधों का जलस्तर बढ़ा, गेट खोलकर पानी की निकासी

भोपाल। मध्यप्रदेश में सक्रिय मानसून ने बड़े हिस्से को तरबतर कर दिया ...