Home / ग्वालियर / ग्वालियर में मकान की छत ढही, मां-बेटी की मौत

ग्वालियर में मकान की छत ढही, मां-बेटी की मौत

ग्वालियर के कृष्णा नगर में देर रात मकान की छत ढहने से मां-बेटी की दर्दनाक मौत हो गई, वहीं भाई-बहन घायल हो गए। हादसे के वक्त परिवार के 6 सदस्य कमरे में गहरी नींद में सो रहे थे। इसी बीच अचानक एक आवाज आई और घर की छत ढह गई। छत में लगीं पटि्टयों में दबकर बीए की छात्रा और उसकी मां की मौत हो गई। जबकि छोटी बहन और भाई घायल हैं। घटना पुरानी छावनी के कृष्णा नगर पहाड़ी इलाके की है। घटना का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। सभी को अस्पताल पहुंचाया गया, जहां मां-बेटी को…

Review Overview

User Rating: 4.58 ( 11 votes)

ग्वालियर के कृष्णा नगर में देर रात मकान की छत ढहने से मां-बेटी की दर्दनाक मौत हो गई, वहीं भाई-बहन घायल हो गए। हादसे के वक्त परिवार के 6 सदस्य कमरे में गहरी नींद में सो रहे थे। इसी बीच अचानक एक आवाज आई और घर की छत ढह गई। छत में लगीं पटि्टयों में दबकर बीए की छात्रा और उसकी मां की मौत हो गई। जबकि छोटी बहन और भाई घायल हैं। घटना पुरानी छावनी के कृष्णा नगर पहाड़ी इलाके की है। घटना का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। सभी को अस्पताल पहुंचाया गया, जहां मां-बेटी को मृत घोषित कर दिया गया। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
ये हादसा राकेश शाक्य ट्रक चालक के घर हुआ। जो कि गणतंत्र दिवस पर गाड़ी लेकर शहर से बाहर गया था। घर पर उसकी पत्नी ऊषा शाक्य (38), बेटी राधा (21), छोटी बेटी रिद्धिमा (13), बड़ा बेटा आनंद (22), छोटा बेटा सचिन (18) और मामा संजय थे। बुधवार रात को करीब 11 बजे तक खाना खाकर पूरा परिवार घर के आगे वाले कमरे में सो गया। तड़के 3 से 4 बजे के बीच अचानक तेज आवाज हुई और पूरी छत ढह गई। पटि्टयों की छत गिरने से पूरा परिवार मलबे में दब गया। मौके पर चीख पुकार मच गई। आसपास के लोग भी वहां एकत्रित हो गए। लोगों ने रेस्क्यू के लिए पुलिस और दमकल दस्ते को भी सूचना दी। सूचना मिलते ही पुरानी छावनी पुलिस मौके पर पहुंची। तब तक घर के कुछ सदस्यों को बाहर निकाला जा चुका था। पर ऊषा और उसकी बेटी राधा की मलबे में दबने से मौत हो गई। पुलिस ने अपने वाहनों से घायलों को अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने मां-बेटी को मृत घोषित कर दिया, जबकि घायल रिद्धिमा और आनंद का इलाज किया जा रहा है।
मृतका के भाई सचिन ने बताया कि जब उसने राधा काे बाहर निकाला तो वह जिंदा थी। उसे अस्पताल पहुंचाने के लिए लोगों ने एम्बुलेंस को कॉल किया। एम्बुलेंस वाले करीब आधा घंटा देरी से आए तब तक मेरी बहन की सांसें थम गईं। मां को भी हम नहीं बचा सके। घटना की सूचना सचिन ने पिता राकेश को दी। जिसके बाद वो घर के लिए निकल गए। हादसे में जान गंवाने वाली राधा बीए फाइनल ईयर की छात्रा थी। शाक्य परिवार जल्द उसकी शादी करने वाला था। राधा के लिए मां-पिता अच्छा रिश्ता तलाश रहे थे। कुछ दिन पहले ही उसके रिश्ते की बात भी चली थी, लेकिन इससे पहले ही हादसे में राधा की मौत हो गई।पुलिस ने शवों को निगरानी में लेकर पोस्टमॉर्टम कराया है। साथ ही मामला दर्ज कर लिया है।

ग्वालियर के कृष्णा नगर में देर रात मकान की छत ढहने से मां-बेटी की दर्दनाक मौत हो गई, वहीं भाई-बहन घायल हो गए। हादसे के वक्त परिवार के 6 सदस्य कमरे में गहरी नींद में सो रहे थे। इसी बीच अचानक एक आवाज आई और घर की छत ढह गई। छत में लगीं पटि्टयों में दबकर बीए की छात्रा और उसकी मां की मौत हो गई। जबकि छोटी बहन और भाई घायल हैं। घटना पुरानी छावनी के कृष्णा नगर पहाड़ी इलाके की है। घटना का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। सभी को अस्पताल पहुंचाया गया, जहां मां-बेटी को…

Review Overview

User Rating: 4.58 ( 11 votes)

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

एमपीसीसीआई का 117वां स्थापना दिवस 26 मई को

ग्वालियर में व्यापार-उद्योग के विकास के लिए सिंधिया राजवंश द्बारा 26 मई ...