Home / देखी सुनी / थीम रोड पर 300 करोड से ज्यादा का खेला, जगह जगह से खुदी पडी

थीम रोड पर 300 करोड से ज्यादा का खेला, जगह जगह से खुदी पडी

स्मार्ट सिटी के हैण्डओव्हर हुई कटोराताल थीम रोड का पुर्ननिर्माण राजपथ के अनुसार कराने की बात कही जा रही है। परंतु मजे की बात यह है कि इस रोड को समीक्षा गुप्ता की मेयरी कार्यकाल के दौरान थीम रोड के रूप में विकसित किया गया था। तब भी भारी भरकम खर्चा कर इसका कायाकल्प कराया गया था। वहीं अब पुनः बनी बनाई रोड को खोद कर इस पर अनावश्यक खर्चा करा जा रहा है। थीम रोड के जगह जगह से खुदी पड़ी हुई है। इससे आने जाने वाले वाहनों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस रोड…

Review Overview

User Rating: Be the first one !


स्मार्ट सिटी के हैण्डओव्हर हुई कटोराताल थीम रोड का पुर्ननिर्माण राजपथ के अनुसार कराने की बात कही जा रही है। परंतु मजे की बात यह है कि इस रोड को समीक्षा गुप्ता की मेयरी कार्यकाल के दौरान थीम रोड के रूप में विकसित किया गया था। तब भी भारी भरकम खर्चा कर इसका कायाकल्प कराया गया था। वहीं अब पुनः बनी बनाई रोड को खोद कर इस पर अनावश्यक खर्चा करा जा रहा है।
थीम रोड के जगह जगह से खुदी पड़ी हुई है। इससे आने जाने वाले वाहनों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस रोड पर लगभग 388 करोड़ का खर्चा कर कायाकल्प करने की बात कही जा रही है। इससे पहले कटोराताल पर भी अच्छी खासी रकम खर्च कर फसाड लाईटिंग कराई गई है। थीम रोड का ठेका L&T कंपनी को दिया गया है। यह कंपनी अपनी मनमानी कर काम को ढुलमुल कर रही है। वहीं इसके कारिंदे आने जाने वाले वाहनों से कुछ कहने पर अभद्र व्यवहार तक करते है। यह समझ से परे है कि स्मार्ट सिटी क्यों बनी बनाई रोड को खुदवाकर उस पर करोड़ो खर्च कर रही है। जबकि पूरे शहर की हालत खस्ता है। बस व्हीआईपी रोड़ों पर ध्यान केन्द्रित किया जा रहा है।

स्मार्ट सिटी के हैण्डओव्हर हुई कटोराताल थीम रोड का पुर्ननिर्माण राजपथ के अनुसार कराने की बात कही जा रही है। परंतु मजे की बात यह है कि इस रोड को समीक्षा गुप्ता की मेयरी कार्यकाल के दौरान थीम रोड के रूप में विकसित किया गया था। तब भी भारी भरकम खर्चा कर इसका कायाकल्प कराया गया था। वहीं अब पुनः बनी बनाई रोड को खोद कर इस पर अनावश्यक खर्चा करा जा रहा है। थीम रोड के जगह जगह से खुदी पड़ी हुई है। इससे आने जाने वाले वाहनों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस रोड…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

कमल जैसा कोई नहीं, कार्यकर्ता के मान सम्मान में सबसे आगे

कमल दल को ग्वालियर में ऐसा कमल मिला है जो सबको साथ ...