Home / देखी सुनी / सिंधिया समर्थक पूर्व विधायकों का नहीं हो पा रहा पूर्नवास, अधर में लटका भविष्य

सिंधिया समर्थक पूर्व विधायकों का नहीं हो पा रहा पूर्नवास, अधर में लटका भविष्य

उपचुनावी चकल्लस के बीच आज मध्यप्रदेश की राजनीति में एक बड़ा मुददा ये भी है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक पूर्व विधायकों अब तक पूर्नवास नहीं हो सका है। राजनीतिक विश्लेषक ये मानते है कि अंदर ही अंदर ये सभी पूर्व विधायक खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। इमरती देवी, मुन्नालाल गोयल, ऐंदल सिंह कंषाना, रघुराज, रणवीर जाटव आदि पूर्व विधायकों ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के एक इशारे पर कांग्रेस छोड़कर भाजपा ज्वाइन कर ली थी। इन्हीं की वजह से कमलनाथ सरकार गिरी थी। जबकि इन पूर्व विधायकों में कई मंत्री भी रहे, लेकिन इन्होंने कुर्सी की भी चिंता नहीं…

Review Overview

User Rating: 3.88 ( 4 votes)
उपचुनावी चकल्लस के बीच आज मध्यप्रदेश की राजनीति में एक बड़ा मुददा ये भी है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक पूर्व विधायकों अब तक पूर्नवास नहीं हो सका है।
राजनीतिक विश्लेषक ये मानते है कि अंदर ही अंदर ये सभी पूर्व विधायक खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। इमरती देवी, मुन्नालाल गोयल, ऐंदल सिंह कंषाना, रघुराज, रणवीर जाटव आदि पूर्व विधायकों ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के एक इशारे पर कांग्रेस छोड़कर भाजपा ज्वाइन कर ली थी। इन्हीं की वजह से कमलनाथ सरकार गिरी थी। जबकि इन पूर्व विधायकों में कई मंत्री भी रहे, लेकिन इन्होंने कुर्सी की भी चिंता नहीं की। परंतु आज जब यह पूर्व विधायक दुखी और खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं तो इनकी कोई सुनने वाला नहीं। निगम मंडल खाली पड़े हैं, लेकिन भाजपा की अंदरूनी राजनीति और गुटबाजी के कारण मुख्यमंत्री, प्रदेशाध्यक्ष कोई फैसला नहीं ले पा रहे। वहीं सिंधिया दिल्ली में केन्द्रीय मंत्री बनकर अब राष्ट्रीय राजनीति में व्यस्त है। करीबी सूत्रों की माने तो अभी सिंधिया भी अपने इन करीबी नेताओं पर ध्यान नहीं दे पा रहे हैं। इससे इनका भविष्य अधर में लटक गया है……..
उपचुनावी चकल्लस के बीच आज मध्यप्रदेश की राजनीति में एक बड़ा मुददा ये भी है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक पूर्व विधायकों अब तक पूर्नवास नहीं हो सका है। राजनीतिक विश्लेषक ये मानते है कि अंदर ही अंदर ये सभी पूर्व विधायक खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं। इमरती देवी, मुन्नालाल गोयल, ऐंदल सिंह कंषाना, रघुराज, रणवीर जाटव आदि पूर्व विधायकों ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के एक इशारे पर कांग्रेस छोड़कर भाजपा ज्वाइन कर ली थी। इन्हीं की वजह से कमलनाथ सरकार गिरी थी। जबकि इन पूर्व विधायकों में कई मंत्री भी रहे, लेकिन इन्होंने कुर्सी की भी चिंता नहीं…

Review Overview

User Rating: 3.88 ( 4 votes)

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

युवराज पर लट्टू ग्वालियर वाले

ग्वालियर बिना राजा, महाराजा के नहीं रह सकता ऐसा मुझे 26 साल ...