Home / प्रदेश / मप्र छत्तीसगढ़ / हालात खराब: मध्यप्रदेश में पेट्रोल जैसी होगी बिजली की कीमत में वृद्धि

हालात खराब: मध्यप्रदेश में पेट्रोल जैसी होगी बिजली की कीमत में वृद्धि

मध्य प्रदेश के हालात खराब हैं। यहां के नागरिकों को भारत के किसी भी राज्य के दूसरे नागरिकों की तुलना में ज्यादा टैक्स देना पड़ रहा है। हालात और ज्यादा खराब होने वाले हैं। क्योंकि बिजली की कीमतें भी ठीक उसी प्रकार बढ़ने वाली हैं जैसे पेट्रोल की कीमत बढ़ गई हैं। वह पुराने दिनों की बात है जब मध्यप्रदेश में बिजली का उत्पादन डिमांड से ज्यादा होता था। आज की तारीख में स्थिति यह है कि मध्यप्रदेश में बिजली का उत्पादन, मध्य प्रदेश की कुल क्षमता का 40% रह गया है। 60% बिजली सेंट्रल सेक्टर से ली जा रही…

Review Overview

User Rating: 4.81 ( 5 votes)

मध्य प्रदेश के हालात खराब हैं। यहां के नागरिकों को भारत के किसी भी राज्य के दूसरे नागरिकों की तुलना में ज्यादा टैक्स देना पड़ रहा है। हालात और ज्यादा खराब होने वाले हैं। क्योंकि बिजली की कीमतें भी ठीक उसी प्रकार बढ़ने वाली हैं जैसे पेट्रोल की कीमत बढ़ गई हैं।
वह पुराने दिनों की बात है जब मध्यप्रदेश में बिजली का उत्पादन डिमांड से ज्यादा होता था। आज की तारीख में स्थिति यह है कि मध्यप्रदेश में बिजली का उत्पादन, मध्य प्रदेश की कुल क्षमता का 40% रह गया है। 60% बिजली सेंट्रल सेक्टर से ली जा रही है। बताने की जरूरत नहीं की इसकी भरपाई जनता को करनी होगी। आने वाले दिनों में बिजली के दामों में जबरदस्त वृद्धि की जाएगी। या शायद हर महीने थोड़ी थोड़ी करके पेट्रोल की तरह बिजली के दाम बढ़ाए जाएंगे।
दरअसल, मध्य प्रदेश की सरकार लगातार लोन लेती जा रही है। लोन पर ब्याज लगता है। लोन की ब्याज चुकाने के लिए सरकार जनता पर टैक्स बढ़ाती है। लोन की रकम बढ़ते-बढ़ते 2 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा हो गई है। इसलिए जनता पर टैक्स की दर भी बढ़ते-बढ़ते देश में सबसे ज्यादा हो गई है। बावजूद इसके वोटों को लुभाने वाले कामों पर बेहिसाब पैसा खर्च किया जा रहा है। नतीजा कर्मचारियों को वेतन नहीं दे पा रहे, बेरोजगारों को नौकरी नहीं दे पा रहे, बिजली बनाने वाला कोयला खरीदने के लिए पैसे नहीं बचे, सरकारी खर्चे पर मुख्यमंत्री के प्रचार प्रसार वाले राजनीतिक कार्यक्रमों को छोड़कर शेष किसी काम पर खर्च करने के लिए पैसा नहीं बचा है।

मध्य प्रदेश के हालात खराब हैं। यहां के नागरिकों को भारत के किसी भी राज्य के दूसरे नागरिकों की तुलना में ज्यादा टैक्स देना पड़ रहा है। हालात और ज्यादा खराब होने वाले हैं। क्योंकि बिजली की कीमतें भी ठीक उसी प्रकार बढ़ने वाली हैं जैसे पेट्रोल की कीमत बढ़ गई हैं। वह पुराने दिनों की बात है जब मध्यप्रदेश में बिजली का उत्पादन डिमांड से ज्यादा होता था। आज की तारीख में स्थिति यह है कि मध्यप्रदेश में बिजली का उत्पादन, मध्य प्रदेश की कुल क्षमता का 40% रह गया है। 60% बिजली सेंट्रल सेक्टर से ली जा रही…

Review Overview

User Rating: 4.81 ( 5 votes)

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

सवा सौ क्विंटल अनाज से हुए श्रीराम-जानकी के दिव्य दर्शन

हरदा मध्य प्रदेश के कलाकारो ने अयोध्या में रचा इतिहास हरदा मध्य ...