Home / ग्वालियर / ग्वालियर कलेक्टर के नाम वारंट?, अचलेश्वर ट्रस्ट की अनियमितताओं पर नहीं लिया अंतिम फैसला

ग्वालियर कलेक्टर के नाम वारंट?, अचलेश्वर ट्रस्ट की अनियमितताओं पर नहीं लिया अंतिम फैसला

हाईकोर्ट ने ग्वालियर कलेक्टर के नाम जमानती वारंट जारी किया है, क्योंकि आदेश के बाद भी कलेक्टर ने अचलेश्वर मंदिर ट्रस्ट की अनियमितताओं पर अंतिम फैसला नहीं लिया। सुनवाई के बाद कलेक्टर को 25 हजार रुपए के जमानती वारंट के साथ 2 अगस्त को कोर्ट में पेश होने के निर्देश दिए गए हैं। वर्तमान में कौशलेंद्र विक्रम सिंह ग्वालियर कलेक्टर हैं। कोर्ट ने कहा है कि पिछली सुनवाई पर भी कलेक्टर को चेतावनी दी गई थी कि यदि जवाब नहीं दिया जाता है तो सख्त कार्रवाई की जा सकती है। मंगलवार को मामले की सुनवाई के दौरान जवाब नहीं दिया…

Review Overview

User Rating: 1.33 ( 2 votes)


हाईकोर्ट ने ग्वालियर कलेक्टर के नाम जमानती वारंट जारी किया है, क्योंकि आदेश के बाद भी कलेक्टर ने अचलेश्वर मंदिर ट्रस्ट की अनियमितताओं पर अंतिम फैसला नहीं लिया। सुनवाई के बाद कलेक्टर को 25 हजार रुपए के जमानती वारंट के साथ 2 अगस्त को कोर्ट में पेश होने के निर्देश दिए गए हैं। वर्तमान में कौशलेंद्र विक्रम सिंह ग्वालियर कलेक्टर हैं।
कोर्ट ने कहा है कि पिछली सुनवाई पर भी कलेक्टर को चेतावनी दी गई थी कि यदि जवाब नहीं दिया जाता है तो सख्त कार्रवाई की जा सकती है। मंगलवार को मामले की सुनवाई के दौरान जवाब नहीं दिया गया। इसके बाद यह फैसला लिया गया। कुछ समय पहले संतोष सिंह राठौर ने अचलेश्वर ट्रस्ट में की जा रही अनियमितताओं को लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी। आरोप था कि ट्रस्ट में पैसों का हिसाब नहीं रखा जा रहा। ट्रस्ट का संचालन करने वाले लोग फंड का दुरुपयोग कर रहे हैं। वे लोग मंदिर निर्माण में भी मनमानी कर रहे हैं। मामले में कोर्ट ने याचिका पर 21 नवंबर 2019 को अंतिम फैसला सुनाया था।
कोर्ट ने आदेश दिया था कि कलेक्टर ट्रस्ट की जांच तीन महीने में पूरी कराएं। जो रिपोर्ट आए, उस पर अंतिम फैसला लें। कलेक्टर ने ट्रस्ट की रिपोर्ट पर अंतिम निर्णय नहीं लिया। इसके चलते संतोष सिंह राठौर ने हाईकोर्ट में जनवरी 2021 में अवमानना याचिका दायर की। मार्च 2021 में कलेक्टर ग्वालियर को नोटिस जारी हो गए थे। नोटिस तामील भी हो गए, लेकिन जवाब नहीं दिया गया। 15 जुलाई 2021 को याचिका की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कलेक्टर को चेतावनी दी थी, जवाब नहीं आया तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। याचिकाकर्ता के अधिवक्ता आरके सोनी व अभिषेक बिंदल ने तर्क दिया कि कोर्ट की चेतावनी के बाद भी कलेक्टर ने जवाब नहीं दिया। आदेश की अवमानना की जा रही है। कोर्ट ने कलेक्टर को 25 हजार रुपये का जमानती वारंट जारी कर 2 अगस्त को तलब किया है।

हाईकोर्ट ने ग्वालियर कलेक्टर के नाम जमानती वारंट जारी किया है, क्योंकि आदेश के बाद भी कलेक्टर ने अचलेश्वर मंदिर ट्रस्ट की अनियमितताओं पर अंतिम फैसला नहीं लिया। सुनवाई के बाद कलेक्टर को 25 हजार रुपए के जमानती वारंट के साथ 2 अगस्त को कोर्ट में पेश होने के निर्देश दिए गए हैं। वर्तमान में कौशलेंद्र विक्रम सिंह ग्वालियर कलेक्टर हैं। कोर्ट ने कहा है कि पिछली सुनवाई पर भी कलेक्टर को चेतावनी दी गई थी कि यदि जवाब नहीं दिया जाता है तो सख्त कार्रवाई की जा सकती है। मंगलवार को मामले की सुनवाई के दौरान जवाब नहीं दिया…

Review Overview

User Rating: 1.33 ( 2 votes)

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

सड़क, पानी, स्वच्छता प्राथमिकता: किशोर कान्याल

ग्वालियर। नवागत नगर निगम आयुक्त किशोर कान्याल ने कहा है कि वह ...