Home / ग्वालियर / हाफता कमलाराजा, टूटती सांसेंः आक्सीजन खत्म होने से तीन की मौत, कांग्रेस विधायक का दावा- कम से कम 10 मरीजों की मौत हुई

हाफता कमलाराजा, टूटती सांसेंः आक्सीजन खत्म होने से तीन की मौत, कांग्रेस विधायक का दावा- कम से कम 10 मरीजों की मौत हुई

ग्वालियर। सरकार और प्रशासन भले ही लाख दावे करें, लेकिन अस्पताल आक्सीजन की कमी से हाफते नजर आ रहे है और सांसें टूटती जा रही है। इसके बाबजूद अस्पताल अधीक्षक आरएस धाकड़ बेशर्मी से कहते नजर आते है कि किसी भी मरीज की मौत आक्सीजन की कमी से नहीं हुई। सवाल यह है कि अगर आक्सीजन भरपूर है तो कहां है या आपका सिस्टम उसे सही तरीके से हैंडल नहीं कर पा रहा है। दरअसल आज फिर ग्वालियर के सबसे बड़े कमलाराजा अस्पताल में आक्सीजन की कमी के कारण तीन मरीजों की मौत होने की बात सामने आई है। जबकि…

Review Overview

User Rating: 4.25 ( 1 votes)

ग्वालियर। सरकार और प्रशासन भले ही लाख दावे करें, लेकिन अस्पताल आक्सीजन की कमी से हाफते नजर आ रहे है और सांसें टूटती जा रही है। इसके बाबजूद अस्पताल अधीक्षक आरएस धाकड़ बेशर्मी से कहते नजर आते है कि किसी भी मरीज की मौत आक्सीजन की कमी से नहीं हुई। सवाल यह है कि अगर आक्सीजन भरपूर है तो कहां है या आपका सिस्टम उसे सही तरीके से हैंडल नहीं कर पा रहा है।
दरअसल आज फिर ग्वालियर के सबसे बड़े कमलाराजा अस्पताल में आक्सीजन की कमी के कारण तीन मरीजों की मौत होने की बात सामने आई है। जबकि कांग्रेस विधायक सतीश सिकरवार का दावा है कि 10 मौतें हुई है। वहीं कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक ने वीडियो जारी कर 5 मौतों की बात कही है। मजेदार बात यह है कि अंचल के दोनों कांग्रेस विधायक संकट घड़ी में भरपूर मदद करते नजर आ रहे है। वहीं भाजपा के सांसद और जनसेवक ज्योतिरादित्य सिंधिया की सक्रियता है ही नहीं। स्थानीय सांसद का अता पता नहीं है तो सिंधिया संभवतः दिल्ली से सोशल मीडिया पर ही एक्टिव नजर आते है। जमीन पर अता पता नहीं है। आज के घटनाक्रम की बात करें तो हुआ यूं कि ग्वालियर के सबसे बड़े हॉस्पिटल कमलाराजा अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म हो गई। बताया जा रहा है कि कुछ ही देर में 3 मरीजों की तड़प-तड़पकर मौत हो गई। अस्पताल प्रबंधन 2 मरीजों की मौत की बात कह रहा है। कुछ दिन पहले भी यहां ऑक्सीजन खत्म होने से तीन मरीजों की मौत हो गई थी। घटना के बाद मृतकों के घर वालों का गुस्सा देखकर डॉक्टर और स्टाफ के लोग अस्पताल छोड़कर भाग गए। अस्पताल में पुलिस तैनात कर दी गई है। हैरानी की बात यह है कि सोमवार शाम को ही ग्वालियर कलेक्टर ने जिले में हालात काबू में होने और ऑक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था होने की बात कही थी।
ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल परिसर में बने कमला राजा अस्पताल की तीसरी मंजिल पर मेल वार्ड में सोमवार सुबह 9 बजे ऑक्सीजन खत्म हो गई। इससे वहां भर्ती मरीजों की सांसें उखड़ने लगीं। डॉक्टर और मरीजों के घर वालों ने अंबू बैग से ऑक्सीजन देने की कोशिश की, लेकिन कुछ ही मिनट में उखड़ती सांसों के थमने का सिलसिला शुरू हो गया। एक के बाद एक मरीज मरते रहे और डॉक्टर लाचार खड़े रहे देखते रहे। इससे परिवार वालों का सब्र टूटने लगा। उनके गुस्से को देखते हुए डॉक्टर और हॉस्पिटल स्टाफ अस्पताल छोड़कर मेडिकल कॉलेज में भाग गए। हंगामे की सूचना पर कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक और सतीश सिकरवार भी पहुंचे। उन्होंने अफसरों, डॉक्टरों को कॉल किया, लेकिन कोई रिस्पॉन्स नहीं मिला। मरीजों की मौत के बाद अस्पताल में माहौल बिगड़ने लगा। इसे भांपते हुए बड़ी संख्या में पुलिस मौके पर पहुंची। सीएसपी लश्कर पुलिस फोर्स के साथ पहुंच गए और अस्पताल को निगरानी में ले लिया। पुलिस जवानों की तैनाती देखकर भी लोग मानने को तैयार नहीं थे।
जैसे ही हॉस्पिटल में एक के बाद एक मौत का सिलसिला शुरू हुआ, डॉक्टर डर गए। मौका देखकर वे भी वहां से निकल गए। आरोप है कि डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ जानते थे कि ऑक्सीजन खत्म हो गई है। कुछ देर बाद ऑक्सीजन का टैंकर पहुंचा, लेकिन तड़प रहे मरीजों को ऑक्सीजन लगाने के लिए कोई डॉक्टर या स्टाफ नहीं था। यदि डॉक्टर होते तो शायद कुछ की जान बच जाती या हालत इतनी न बिगड़ती। कमला राजा में मरीजों की मौत पर अलग-अलग दावे किए जा रहे हैं। जेएएच अधीक्षक आरएस धाकड़ ने 2 मौतें होने की बात कही है, लेकिन एसडीएम प्रदीप तोमर ऐसा कुछ भी नहीं होने की बात कहते नजर आए। कांग्रेस विधायक सतीश सिकरवार का दावा है कि कम से कम 10 मौतें हुई हैं।

ग्वालियर। सरकार और प्रशासन भले ही लाख दावे करें, लेकिन अस्पताल आक्सीजन की कमी से हाफते नजर आ रहे है और सांसें टूटती जा रही है। इसके बाबजूद अस्पताल अधीक्षक आरएस धाकड़ बेशर्मी से कहते नजर आते है कि किसी भी मरीज की मौत आक्सीजन की कमी से नहीं हुई। सवाल यह है कि अगर आक्सीजन भरपूर है तो कहां है या आपका सिस्टम उसे सही तरीके से हैंडल नहीं कर पा रहा है। दरअसल आज फिर ग्वालियर के सबसे बड़े कमलाराजा अस्पताल में आक्सीजन की कमी के कारण तीन मरीजों की मौत होने की बात सामने आई है। जबकि…

Review Overview

User Rating: 4.25 ( 1 votes)

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

सिंधिया ने लिखा CM शिवराज को पत्र: मेडिकल कॉलेज बनाने आरक्षित जमीन का प्रीमियम, भू-भाटक माफ करने की मांग

राज्यसभा सांसद व BJP नेता ज्योतिरादितय सिंधिया ने प्रदेश के मुखिया शिवराज ...