Home / ग्वालियर / सिंधिया संपत्ति के मामले पर कांग्रेस ने फिर उठाए सवाल, कोर्ट जाने की तैयारी

सिंधिया संपत्ति के मामले पर कांग्रेस ने फिर उठाए सवाल, कोर्ट जाने की तैयारी

ग्वालियर। कांग्रेस ने एक बार फिर बीजेपी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पर जमीनों के मामले में निशाना साधा है. कांग्रेस का आरोप है कि सिंधिया परिवार ने कोटेश्वर, कोटेश्वर मंदिर धूमेश्वर महादेव और सर्वे नंबर 15 की बेशकीमती जमीन को हथियाकर उन्हें बेच दिया, इन जमीनों की कीमत कांग्रेस ने 500 करोड़ से ज्यादा बताई है. प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष मुरारीलाल दुबे और कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा के मुताबिक 15 अप्रैल 1950 को नजूल अधिकारी ने अपनी जांच रिपोर्ट में सर्वे क्रमांक 32, 33, 34 ,36, 38 और 40 की भूमि का उल्लेख कर विक्रय की अनुमति जारी की, उस भूमि संस्थान…

Review Overview

User Rating: 4.6 ( 3 votes)

ग्वालियर। कांग्रेस ने एक बार फिर बीजेपी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पर जमीनों के मामले में निशाना साधा है. कांग्रेस का आरोप है कि सिंधिया परिवार ने कोटेश्वर, कोटेश्वर मंदिर धूमेश्वर महादेव और सर्वे नंबर 15 की बेशकीमती जमीन को हथियाकर उन्हें बेच दिया, इन जमीनों की कीमत कांग्रेस ने 500 करोड़ से ज्यादा बताई है.
प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष मुरारीलाल दुबे और कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा के मुताबिक 15 अप्रैल 1950 को नजूल अधिकारी ने अपनी जांच रिपोर्ट में सर्वे क्रमांक 32, 33, 34 ,36, 38 और 40 की भूमि का उल्लेख कर विक्रय की अनुमति जारी की, उस भूमि संस्थान द्वारा रजिस्टर्ड विक्रय पत्र 24 सितंबर 2004 के आधार पर सिंधिया देवस्थान ट्रस्ट के नाम पर नामांतरण कर दी गई. उनका कहना है कि 1997 के बंदोबस्त रिकॉर्ड में उक्त खसरा भूमि सरकारी बताई गई है, वहीं कोटेश्वर मंदिर सरकारी रिकॉर्ड में औकाफ की जमीन बताई गई है, उन्होंने इसके लिए कुछ अधिकारियों को भी जिम्मेदार बताया है.
कांग्रेस का आरोप है कि जमीनों के मामले में व्यापक स्तर पर गड़बड़ी की गई है, इसमें अपने प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए सिंधिया परिवार ने कई जमीनों को अपने ट्रस्टों के नाम कराया है. कांग्रेस का कहना है कि यदि शिवराज सरकार ने जमीनों के घोटालों के मामलों की जांच नहीं कराई तो वह सुप्रीम कोर्ट में इन मामलों को ले जाएंगे.

ग्वालियर। कांग्रेस ने एक बार फिर बीजेपी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पर जमीनों के मामले में निशाना साधा है. कांग्रेस का आरोप है कि सिंधिया परिवार ने कोटेश्वर, कोटेश्वर मंदिर धूमेश्वर महादेव और सर्वे नंबर 15 की बेशकीमती जमीन को हथियाकर उन्हें बेच दिया, इन जमीनों की कीमत कांग्रेस ने 500 करोड़ से ज्यादा बताई है. प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष मुरारीलाल दुबे और कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा के मुताबिक 15 अप्रैल 1950 को नजूल अधिकारी ने अपनी जांच रिपोर्ट में सर्वे क्रमांक 32, 33, 34 ,36, 38 और 40 की भूमि का उल्लेख कर विक्रय की अनुमति जारी की, उस भूमि संस्थान…

Review Overview

User Rating: 4.6 ( 3 votes)

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

दिल्ली आंदोलन में शामिल होने के लिए किसान एकजुट, ग्वालियर से रवाना होंगे

ग्वालियर। दिल्ली किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए बड़ी संख्या में ...