Home / ग्वालियर / शाबाश शशिकांतः अब पत्रकारों के हाथ पैर तुड़वाने की दे रहे धमकी

शाबाश शशिकांतः अब पत्रकारों के हाथ पैर तुड़वाने की दे रहे धमकी

ग्वालियर। महाराज बाड़े पर अवैध वसूली के मामले में बच रहे मदाखलत अधिकारी शशिकांत शुक्ला अब पत्रकारों के हाथ पैर तोड़ने की बात कहने को लेकर चर्चाओं में आ गये है। यहां बता दें कि इन दिनों मदाखलत अधिकारी शशिकांत गरीब एवं असहायों के ठेले हटाने की कार्रवाई में व्यस्त है। फूलबाग पर भी गत रोज एक ठेला हटाने की कार्रवाई करने वह पहुंच गये। तभी वहां मौजूद पत्रकारों से वह उलझ गये और कहने लगे कि उनके लोग यहां आकर पत्रकारों के हाथ पैर तोड़ देंगे। पत्रकारों के हाथ पैर तुड़वाने की बात से लगातार शशिकांत चर्चाओं में चल…

Review Overview

User Rating: 4.63 ( 6 votes)


ग्वालियर। महाराज बाड़े पर अवैध वसूली के मामले में बच रहे मदाखलत अधिकारी शशिकांत शुक्ला अब पत्रकारों के हाथ पैर तोड़ने की बात कहने को लेकर चर्चाओं में आ गये है।
यहां बता दें कि इन दिनों मदाखलत अधिकारी शशिकांत गरीब एवं असहायों के ठेले हटाने की कार्रवाई में व्यस्त है। फूलबाग पर भी गत रोज एक ठेला हटाने की कार्रवाई करने वह पहुंच गये। तभी वहां मौजूद पत्रकारों से वह उलझ गये और कहने लगे कि उनके लोग यहां आकर पत्रकारों के हाथ पैर तोड़ देंगे। पत्रकारों के हाथ पैर तुड़वाने की बात से लगातार शशिकांत चर्चाओं में चल रहे है। लोकतंत्र के तीसरे स्तम्भ पर हमला करने की बात कहना शशिकांत जैसे अधिकारी ही कह सकते है। वैसे भी कहा जाता है कि उन्हें भ्रष्ट अधिकारियों का संरक्षण प्राप्त है। वहीं लगातार उन पर अवैध वसूली के आरोप भी लगते रहे है। फुटपाथी व्यापारियों तक ने उन पर आरोप लगाये थे।

ग्वालियर। महाराज बाड़े पर अवैध वसूली के मामले में बच रहे मदाखलत अधिकारी शशिकांत शुक्ला अब पत्रकारों के हाथ पैर तोड़ने की बात कहने को लेकर चर्चाओं में आ गये है। यहां बता दें कि इन दिनों मदाखलत अधिकारी शशिकांत गरीब एवं असहायों के ठेले हटाने की कार्रवाई में व्यस्त है। फूलबाग पर भी गत रोज एक ठेला हटाने की कार्रवाई करने वह पहुंच गये। तभी वहां मौजूद पत्रकारों से वह उलझ गये और कहने लगे कि उनके लोग यहां आकर पत्रकारों के हाथ पैर तोड़ देंगे। पत्रकारों के हाथ पैर तुड़वाने की बात से लगातार शशिकांत चर्चाओं में चल…

Review Overview

User Rating: 4.63 ( 6 votes)

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

कलेक्टर के आदेश को जिला सहकारी बैंक नहीं मानता, गिरधारी की वापसी

ग्वालियर। सहकारिता को लेकर कितना ही प्रयास किया जाये मगर इसमें होने ...