Home / प्रदेश / मप्र छत्तीसगढ़ / बीजेपी को झटका, यह पार्टी लड़ेगी अकेले चुनाव

बीजेपी को झटका, यह पार्टी लड़ेगी अकेले चुनाव

भोपाल। बिहार में सत्ता पर काबिज जनता दल यूनाइटेड मध्यप्रदेश की तरफ आशा भरी निगाहों से देख रही है। उसे उम्मीद है कि आगामी विधानसभा चुनाव में तीसरे विकल्प के तौर पर वह ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतकर सरकार बनाने में प्रमुख भूमिका निभा सकती है। हालांकि वह अभी विधानसभा की 230 सीटों पर लड़ने के लिए तैयार नहीं है। लेकिन उनका मानना है कि वह ज्यादा से ज्यादा सीटों पर लड़ने की कोशिश करेंगे। जनता दल यूनाइटेड के प्रदेश अध्यक्ष सूरज जायसवाल का कहना है कि 8 जून को बिहार में जनता दल यूनाइटेड की एक अहम बैठक आयोजित…

Review Overview

User Rating: 2.2 ( 5 votes)

भोपाल। बिहार में सत्ता पर काबिज जनता दल यूनाइटेड मध्यप्रदेश की तरफ आशा भरी निगाहों से देख रही है। उसे उम्मीद है कि आगामी विधानसभा चुनाव में तीसरे विकल्प के तौर पर वह ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतकर सरकार बनाने में प्रमुख भूमिका निभा सकती है। हालांकि वह अभी विधानसभा की 230 सीटों पर लड़ने के लिए तैयार नहीं है। लेकिन उनका मानना है कि वह ज्यादा से ज्यादा सीटों पर लड़ने की कोशिश करेंगे।
जनता दल यूनाइटेड के प्रदेश अध्यक्ष सूरज जायसवाल का कहना है कि 8 जून को बिहार में जनता दल यूनाइटेड की एक अहम बैठक आयोजित की गई थी। जिसमें आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए कई अहम निर्णय पारित किए गए हैं। जिसके तहत जेडीयू मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ बिना किसी राष्ट्रीय पार्टी के समझौते के अपनी ताकत से चुनाव लड़ेगी।

बीजेपी को झटका, यह पार्टी लड़ेगी अकेले चुनाव

उन्होंने कहा कि कुछ राजनीतिक पार्टियों के द्वारा भ्रम फैलाया जा रहा था कि जेडीयू मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बहुत ही कम सीटों पर चुनाव लड़ने वाली है लेकिन बैठक के दौरान यह भ्रम पूरी तरह से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने खत्म कर दिया है उनके निर्देशानुसार सभी विधानसभा चुनाव में और आने वाले लोकसभा चुनाव में भी पूरी दमदारी के साथ मैदान में उतरेगी।
उन्होंने बताया कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी जल्द मध्यप्रदेश के दौरे पर आने वाले हैं। उनके आगमन के बाद से ही हमारी चुनावी तैयारियां शुरू हो जाएंगी। अगस्त के आखिरी सप्ताह में नितेश कुमार के मध्यप्रदेश आगमन का अंदाजा है। हालांकि तारीख अभी निर्धारित नहीं है। लेकिन जल्द ही उनके मध्य प्रदेश दौरे की तिथि तय की जाएगी। चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर मध्यप्रदेश के कई प्रमुख शहरों में जेडीयू के बड़े सम्मेलन आयोजित किए जाना है। इस तरह के आयोजनों से जेडीयू के प्रत्याशियों को मजबूत किया जाएगा और ज्यादा से ज्यादा संख्या में कार्यकर्ताओं को भी पार्टी से जोड़ा जाएगा। जनता दल यूनाइटेड का उद्देश्य यही है कि मध्यप्रदेश में जितनी ज्यादा सीटों पर हम मजबूती से विजय प्राप्त कर सकते हैं। हम उतनी ज्यादा सीटों पर चुनाव लड़ेंगे।
उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश में बुंदेलखंड, विंध्य महाकौशल, झाबुआ क्षेत्र इन सभी क्षेत्रों में जनता दल यूनाइटेड का अच्छा वर्चस्व कायम है। इसलिए इन क्षेत्रों में तो हम ज्यादा ताकत के साथ चुनाव लड़ेंगे और यदि पार्टी के द्वारा निर्देशित किया जाता है कि अन्य क्षेत्रों में भी प्रत्याशियों को मैदान में उतारना है तो निश्चित रुप से अन्य विधानसभा क्षेत्रों में भी जेडीयू के प्रत्याशियों को उतारा जाएगा।

युवाओं को मिलेगा मौका
उन्होंने बताया कि आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर मध्यप्रदेश में चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों की सूची जल्द से जल्द जारी की जाएगी लेकिन पार्टी की सोच है कि हम 75% विधानसभा की सीटें युवाओं को ही देंगे युवाओं को टिकट देने का उद्देश्य केवल यही है कि हम राजनीति को स्वच्छ वातावरण में लाना चाहते हैं और युवाओं को लाने से निश्चित रूप से राजनीति का एक नया परिदृश्य सबके सामने आएगा और युवा ऊर्जा से भरपूर मध्य प्रदेश और देश के विकास में अपना अहम योगदान दे सकेगा।

भोपाल। बिहार में सत्ता पर काबिज जनता दल यूनाइटेड मध्यप्रदेश की तरफ आशा भरी निगाहों से देख रही है। उसे उम्मीद है कि आगामी विधानसभा चुनाव में तीसरे विकल्प के तौर पर वह ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतकर सरकार बनाने में प्रमुख भूमिका निभा सकती है। हालांकि वह अभी विधानसभा की 230 सीटों पर लड़ने के लिए तैयार नहीं है। लेकिन उनका मानना है कि वह ज्यादा से ज्यादा सीटों पर लड़ने की कोशिश करेंगे। जनता दल यूनाइटेड के प्रदेश अध्यक्ष सूरज जायसवाल का कहना है कि 8 जून को बिहार में जनता दल यूनाइटेड की एक अहम बैठक आयोजित…

Review Overview

User Rating: 2.2 ( 5 votes)

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

डॉ. गोविंद सिंह के घर भोजन करेंगे सिंधिया

– चंबल की राजनीति की बड़ी घटना भोपाल। पिछले तीन दशक की ...