Home / देखी सुनी / स्मार्ट महीप की मल्टीलेवल पार्किंग में पैसों की बंदरबाट, वाहनों का भी इंतजार

स्मार्ट महीप की मल्टीलेवल पार्किंग में पैसों की बंदरबाट, वाहनों का भी इंतजार

अपने ग्वालियर के स्मार्ट महीप की स्मार्ट सिटी कारपोरेशन में भ्रष्टाचार व पैसों की बंदरबाट की गूंज आये दिन सुनाई देती रहती है। हर योजना में जमकर भ्रष्टाचार का बोलबाला है, जिससे अधिकारियों की बल्ले बल्ले है। अब देखिये कि छोटा सा ग्वालियर शहर और योजना बड़े शहरों की तरह मल्टीलेवल पार्किंग की। स्मार्ट साहब ये बताईये कि आपने शहरभर में कई मल्टीलेवल पार्किंग स्मार्ट सिटी के नाम पर तनवा दी है, परंतु इन पार्किंगों के तनने के कई माह बाद भी वहां पार्क करने के लिए वाहनों का टोटा है। हां यह जरूर है कि यहां पर आवारा जानवर…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

अपने ग्वालियर के स्मार्ट महीप की स्मार्ट सिटी कारपोरेशन में भ्रष्टाचार व पैसों की बंदरबाट की गूंज आये दिन सुनाई देती रहती है। हर योजना में जमकर भ्रष्टाचार का बोलबाला है, जिससे अधिकारियों की बल्ले बल्ले है।
अब देखिये कि छोटा सा ग्वालियर शहर और योजना बड़े शहरों की तरह मल्टीलेवल पार्किंग की। स्मार्ट साहब ये बताईये कि आपने शहरभर में कई मल्टीलेवल पार्किंग स्मार्ट सिटी के नाम पर तनवा दी है, परंतु इन पार्किंगों के तनने के कई माह बाद भी वहां पार्क करने के लिए वाहनों का टोटा है। हां यह जरूर है कि यहां पर आवारा जानवर जरूर आराम फरमाते मिल जाते है। वहीं गरीबों के सोने के लिए भी यह उपयुक्त स्थान हो गया है। हाईकोर्ट, बालभवन, जयेन्द्रगंज में तनी मल्टीलेवल पार्किंग का यही हाल है। इसके अलावा कंपू सहित कई अन्य स्थानों पर मल्टीलेवल पार्किंग का निर्माण कार्य चल रहा है। परंतु ऐसी पार्किंग का क्या फायदा जहां वाहनों का पार्क होना ही मुश्किल है।
ग्वालियर शहर में ना तो कोई बड़े उद्योग है और ना ही कोई बड़े लेवल पर कारोबार है फिर ऐसे फिजूल की मल्टीलेवल पार्किंग में सिर्फ अधिकारियों की जेबें भरी है। आम आदमी को इससे कोई भी लाभ नहीं मिलने वाला। इससे तो इस पैसे को स्मार्ट साहब को किसी उपयुक्त जगह पर लगाना चाहिए था। परंतु अधिकारियों की बल्ले बल्ले को यह फिजूल की मल्टीलेवल पार्किंग को लांच कर दिया गया। गालव ऋषि की तपोभूमि में भगवान ऐसे स्मार्ट महीप साहब को सदबुद्धि दें……

अपने ग्वालियर के स्मार्ट महीप की स्मार्ट सिटी कारपोरेशन में भ्रष्टाचार व पैसों की बंदरबाट की गूंज आये दिन सुनाई देती रहती है। हर योजना में जमकर भ्रष्टाचार का बोलबाला है, जिससे अधिकारियों की बल्ले बल्ले है। अब देखिये कि छोटा सा ग्वालियर शहर और योजना बड़े शहरों की तरह मल्टीलेवल पार्किंग की। स्मार्ट साहब ये बताईये कि आपने शहरभर में कई मल्टीलेवल पार्किंग स्मार्ट सिटी के नाम पर तनवा दी है, परंतु इन पार्किंगों के तनने के कई माह बाद भी वहां पार्क करने के लिए वाहनों का टोटा है। हां यह जरूर है कि यहां पर आवारा जानवर…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

मंत्री प्रद्युम्न सिंह ने अब महिला सफाईकर्मी के छुए पैर

प्रदेश के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह रविवार को सफाई ...