Home / ग्वालियर / शर्मनाकः पूरा शहर कचरा कचरा

शर्मनाकः पूरा शहर कचरा कचरा

ग्वालियर। आउटसोर्सिंग कर्मचारियों की एक पखवाड़ें से चल रही हड़ताल का असर शहर में दिखाई दे रहा है। सड़कों और चैराहों से लेकर गली मौहल्लों तक में गंदगी के ढेर लग गये है। हालात यह रहे कि दशहरे पर भी शहर से कचरा नहीं उठा, वहीं सराफा बाजार में हड़ताली कर्मचारियों ने कचरा लाकर और फैला दिया। नगर निगम जहां स्वच्छता में खुद को श्रेष्ठ साबित करने का दावा ठोंक रहा था, वहीं इन ठेके वाले कर्मचारियों ने उसके इस दावे की हवा निकालकर रख दी है। शहर के मुख्य बाजार सराफा बाजार, महाराज बाड़ा, दौलतगंज, डीडवाना ओली, माधवगंज, इंदरगंज,…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

ग्वालियर। आउटसोर्सिंग कर्मचारियों की एक पखवाड़ें से चल रही हड़ताल का असर शहर में दिखाई दे रहा है। सड़कों और चैराहों से लेकर गली मौहल्लों तक में गंदगी के ढेर लग गये है। हालात यह रहे कि दशहरे पर भी शहर से कचरा नहीं उठा, वहीं सराफा बाजार में हड़ताली कर्मचारियों ने कचरा लाकर और फैला दिया।
नगर निगम जहां स्वच्छता में खुद को श्रेष्ठ साबित करने का दावा ठोंक रहा था, वहीं इन ठेके वाले कर्मचारियों ने उसके इस दावे की हवा निकालकर रख दी है। शहर के मुख्य बाजार सराफा बाजार, महाराज बाड़ा, दौलतगंज, डीडवाना ओली, माधवगंज, इंदरगंज, नदी गेट, शिंदे की छावनी, जिंसी नाला, नई सड़क आदि स्थानों से कई दिनों से कचरा न उठने के कारण अब यह सड़कों पर फैल गया है। वहीं गली मौहल्लों में भी कचरे के ढेर लगे है। गंदगी और बदबू के कारण अब लोगों का घर के भीतर रहना तक मुश्किल साबित होरहा है। यहीं नहीं इस गंदगी से बीमारियां तक फैलने का खतरा भी उत्पन्न हो रहा है। यहां बता दे कि हड़ताली आउटसोर्सिंग कर्मचारी निगम में लेने और वेतन की मांग को लेकर हड़ताल पर गये है और त्यौहार के मददेनजर दोहरी दबाब बनाने के लिए दोहरी नीति अपना रहे हैं।

ग्वालियर। आउटसोर्सिंग कर्मचारियों की एक पखवाड़ें से चल रही हड़ताल का असर शहर में दिखाई दे रहा है। सड़कों और चैराहों से लेकर गली मौहल्लों तक में गंदगी के ढेर लग गये है। हालात यह रहे कि दशहरे पर भी शहर से कचरा नहीं उठा, वहीं सराफा बाजार में हड़ताली कर्मचारियों ने कचरा लाकर और फैला दिया। नगर निगम जहां स्वच्छता में खुद को श्रेष्ठ साबित करने का दावा ठोंक रहा था, वहीं इन ठेके वाले कर्मचारियों ने उसके इस दावे की हवा निकालकर रख दी है। शहर के मुख्य बाजार सराफा बाजार, महाराज बाड़ा, दौलतगंज, डीडवाना ओली, माधवगंज, इंदरगंज,…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

तानसेन को वैश्विक बनाने की उधेड़बुन 

संगीत सम्राट तानसेन की समाधि पर होने वाला संगीत समारोह कब और ...