Home / अंतरराष्ट्रीय / रोकी गई ‘चंद्रयान-2’ की लॉन्चिंग, जल्द होगा नई तारीख का ऐलान

रोकी गई ‘चंद्रयान-2’ की लॉन्चिंग, जल्द होगा नई तारीख का ऐलान

इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाईजेशन (इसरो) के दूसरे चंद्र मिशन ‘चंद्रयान-2’ की लॉन्चिंग तकनीकी वजहों से रोक दी गई है. इसरो की ओर से इसे सोमवार तड़के 2.51 बजे आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन स्पेस सेंटर से लॉन्च किया जाना था, लेकिन लॉन्चिंग सिस्टम में एक तकनीकी दिक्कत के चलते इसे रोक दिया गया. लॉन्चिंग की नई तारीख की घोषणा जल्द ही की जाएगी. ‘चंद्रयान-2’ को देश के सबसे ताकतवर बाहुबली रॉकेट जीएसएलवी-एमके 3 से लॉन्च किया जाना था. पहले चंद्र मिशन की कामयाबी के 11 साल बाद 978 करोड़ रुपए की लागत से बने 'चंद्रयान-2' का प्रक्षेपण होना…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाईजेशन (इसरो) के दूसरे चंद्र मिशन ‘चंद्रयान-2’ की लॉन्चिंग तकनीकी वजहों से रोक दी गई है. इसरो की ओर से इसे सोमवार तड़के 2.51 बजे आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन स्पेस सेंटर से लॉन्च किया जाना था, लेकिन लॉन्चिंग सिस्टम में एक तकनीकी दिक्कत के चलते इसे रोक दिया गया. लॉन्चिंग की नई तारीख की घोषणा जल्द ही की जाएगी.

‘चंद्रयान-2’ को देश के सबसे ताकतवर बाहुबली रॉकेट जीएसएलवी-एमके 3 से लॉन्च किया जाना था. पहले चंद्र मिशन की कामयाबी के 11 साल बाद 978 करोड़ रुपए की लागत से बने ‘चंद्रयान-2’ का प्रक्षेपण होना था.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी चंद्रयान-2 लॉन्चिंग को देखने के लिए श्रीहरिकोटा में थे. इसरो ने चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग टालने के बाद बयान जारी कर कहा, “लॉन्चिंग के करीब 1 घंटे पहले लॉन्च वीइकल सिस्टम में एक तकनीकी दिक्कत का पता चला. ऐहतियातन हमने आज लॉन्च होने वाले चंद्रयान-2 मिशन को यहीं रोकने का फैसला किया है. लॉन्चिंग की नई तारीख की घोषणा जल्द ही जाएगी.”

जल्द होगा नई तारीख का ऐलान

इसरो के एक अन्य अधिकारी ने कहा कि तकनीकी खामी की वजह से लॉन्चिंग को टाला जाता है. लॉन्चिंग विंडो के अंदर लॉन्च करना संभव नहीं है. लॉन्चिंग की नई तारीख का ऐलान जल्द ही किया जाएगा.

इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गेनाईजेशन (इसरो) के दूसरे चंद्र मिशन ‘चंद्रयान-2’ की लॉन्चिंग तकनीकी वजहों से रोक दी गई है. इसरो की ओर से इसे सोमवार तड़के 2.51 बजे आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन स्पेस सेंटर से लॉन्च किया जाना था, लेकिन लॉन्चिंग सिस्टम में एक तकनीकी दिक्कत के चलते इसे रोक दिया गया. लॉन्चिंग की नई तारीख की घोषणा जल्द ही की जाएगी. ‘चंद्रयान-2’ को देश के सबसे ताकतवर बाहुबली रॉकेट जीएसएलवी-एमके 3 से लॉन्च किया जाना था. पहले चंद्र मिशन की कामयाबी के 11 साल बाद 978 करोड़ रुपए की लागत से बने 'चंद्रयान-2' का प्रक्षेपण होना…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

About Dheeraj Bansal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

ये कैसा देश है ?

ये कैसे देश हैं जहां न यातायात बाधित करते मंदिर हैं न ...